छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना 2022: Patient Registration, Eligibility

राज्य सरकार ने राज्य की बेहतरी के लिए और निवासियों के लिए विभिन्न योजनाएं लागू की हैं। राज्य सरकार स्लमवासियों को स्वस्थ रखने के लिए विभिन्न योजनाओं के माध्यम से प्रयास कर रही है। और इन सभी परियोजनाओं के माध्यम से उन्हें स्वास्थ्य लाभ पहुँचाया जाता है। केंद्र और राज्य सरकारों ने निवासियों के स्वास्थ्य में सुधार के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं। छत्तीसगढ़ सरकार ने निवासियों के स्वास्थ्य की देखभाल के लिए छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना 2022 शुरू की है। सरकार के मुताबिक इस योजना से राज्य के नागरिकों के इलाज और जांच के लिए मोबाइल यूनिट की सुविधा शुरू की जाएगी।

Chhattisgarh Mukhyamantri Slum Swasthya Yojana

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने 1 नवंबर, 2020 को Chhattisgarh Mukhyamantri Slum Swasthya Yojana की शुरुआत की है। प्रदेश की 14 नगर पालिकाओं में 60 मोबाइल मेडिकल यूनिट संचालित की जा रही हैं। आज इस पेज के माध्यम से हम आपको छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना के बारे में जानकारी देंगे। उद्देश्य, लाभ, आवश्यक कागजी कार्रवाई, पात्रता मानदंड और स्लम स्वास्थ्य योजना आवेदन प्रक्रिया। इस योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए पूरा पेज पढ़ें।

संक्षिप्त योजना विवरण

योजना का नामछत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना
लाभार्थीछत्तीसगढ़ के नागरिक इस योजना का लाभ उठा सकेंगे।
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन/ऑफलाइन

Chhattisgarh mukhymantri slum Swasthya Yojana About

राज्य के नागरिकों के स्वास्थ्य की देखभाल के लिए छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य योजना शुरू की गई है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस योजना की शुरुआत की है। यह योजना 21 फरवरी 2022 तक राज्य के सभी शहरों में लागू की जाएगी। मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के माध्यम से झुग्गी-झोपड़ी में रहने वालों के उपचार और जांच के लिए Mobile Medical Unit उपलब्ध कराई जाएगी। इन चल चिकित्सा इकाइयों को राज्य के स्लम क्षेत्रों में तैनात किया जाएगा। राज्य सरकार के मुताबिक इस योजना से नागरिकों को इलाज के साथ-साथ दवाइयां और 42 तरह के टेस्ट भी मिलेंगे।

इन दोनों के माध्यम से राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के नागरिक इलाज करा सकेंगे और अपने स्वास्थ्य की देखभाल कर सकेंगे। Mobile Medical Unit का विस्तार राज्य के सभी शहरों में किया जाएगा। प्रदेश में 120 स्थानों पर 2880 शिविर लगाए जाएंगे और इनमें से करीब 180,000 का इलाज किया जाएगा। बस्तियों में अस्पताल की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए निर्माण कार्य पहले ही शुरू हो चुका है।

CG Slum Swasthya Yojana Highlights Key
योजना का नामछत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना
स्कीम के तहतछत्तीसगढ़ सरकार
राज्यछत्तीसगढ़
पोस्ट श्रेणीयोजना
लाभार्थीछत्तीसगढ़ के नागरिक इस योजना का लाभ उठा सकेंगे।
उद्देश्यइस योजना का उद्देश्य छत्तीसगढ़ के नागरिकों को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करना है।
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन/ऑफलाइन
साल2022
आधिकारिक वेबसाइटजल्द शुरू होगा

स्लम स्वास्थ्य योजना के तहत मरीजों के लिए कम्प्यूटरीकृत स्क्रीनिंग प्रक्रिया

राज्य सरकार राज्य के सभी निवासियों को स्वस्थ और सामान्य रखने की कोशिश कर रही है। प्रदेश में मोबाइल मेडिकल यूनिट 2022 के माध्यम से मरीजों की जांच प्रक्रिया को कम्प्यूटरीकृत किया जाएगा। कम्प्यूटरीकृत प्रक्रिया में कोई गलती न हो यह सुनिश्चित करने के लिए एक विशेषज्ञ द्वारा ऑडिट भी किया जाएगा। इस योजना के माध्यम से मरीजों के पंजीकरण, डॉक्टरों के पर्चे और फार्मासिस्टों द्वारा दवाओं के वितरण का काम पूरी तरह से कंप्यूटर के माध्यम से किया जाएगा। करीब 120 जगहों पर 2880 कैंप लगाए जाएंगे जिनमें से 1 लाख 80 हजार मरीजों का इलाज किया जाएगा।

सरकार ने राज्य के सभी आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के निवासियों के स्वास्थ्य की देखभाल के लिए मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना शुरू की है। राज्य सरकार ने कहा है कि राज्य में सभी बस्तियों में अस्पताल की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए निर्माण प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। और जल्द ही सभी मलिन बस्तियों को अस्पताल की सुविधा प्रदान की जाएगी।

14 नगर पालिकाओं में पहले से ही स्लम स्वास्थ्य योजना लागू की जाएगी

राज्य सरकार का उद्देश्य राज्य के कोने-कोने में मोबाइल मेडिकल यूनिट स्थापित करना है। यह योजना करीब 169 शहरों में शुरू की जाएगी। यह योजना राज्य के चौदह नगर निगमों द्वारा 1 नवंबर, 2020 से लागू की जा रही है। और इन चौदह नगर पालिकाओं में लगभग 60 चल चिकित्सा इकाइयां संचालित की जा रही हैं। साथ ही कोरोना की उपस्थिति में लोगों को इस योजना के माध्यम से लाभ दिया गया और उन्हें अस्पताल नहीं जाना पड़ा। इस योजना से राज्य में आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के जीवन स्तर में सुधार होगा। क्योंकि राज्य के सभी गरीब और बेसहारा नागरिक Chhattisgarh Mukhyamantri Slum Swasthya Scheme का लाभ उठा सकेंगे।

हमने आपको सूचित किया है कि राज्य में 60 मोबाइल मेडिकल यूनिट पहले ही स्थापित की जा चुकी हैं, और कुछ दिनों में 60 और मोबाइल मेडिकल यूनिट स्थापित की जा रही हैं। फिर राज्य में 120 मोबाइल मेडिकल यूनिट होंगी।

छत्तीसगढ़ मोबाइल मेडिकल यूनिट

राज्य सरकार के अनुसार इस मोबाइल मेडिकल यूनिट के माध्यम से अब तक 20,928 शिविर लगाये जा चुके हैं। और इन कैमों के माध्यम से राज्य के लगभग 14 लाख 68 हजार 195 मरीजों को सुविधा प्रदान की गई है। इन लाभार्थियों में से 12 लाख 19 हजार 523 रोगियों को इस योजना के तहत नि:शुल्क दवा दी गई है और शेष 275388 रोगियों का नि:शुल्क परीक्षण किया गया है। राज्य सरकार ने इस योजना के माध्यम से पूरे राज्य में मोबाइल चिकित्सा इकाई को लागू करने का निर्णय लिया है। यह योजना 21 फरवरी 2022 तक सभी शहरों में शुरू की जाएगी।

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना का उद्देश्य

यहां उस देश के बारे में कुछ जानकारी दी गई है जहां सरकार ने यह योजना शुरू की है –

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना की शुरुआत की है। इस योजना को शुरू करने का उद्देश्य राज्य के सभी स्लम क्षेत्रों के निवासियों के स्वास्थ्य का ध्यान रखना है। इसके जरिए नागरिकों को स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराई जाएंगी। कोरोनावायरस की उपस्थिति में इस योजना के तहत कई नागरिकों को मोबाइल चिकित्सा इकाइयों के माध्यम से लाभ प्रदान किया गया है और उन्हें अस्पताल नहीं जाना पड़ा। राज्य सरकार ने इस योजना के माध्यम से एक मोबाइल चिकित्सा इकाई की स्थापना की है और इस मोबाइल चिकित्सा इकाई के माध्यम से राज्य के सभी नागरिकों को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जाएंगी। यह योजना नागरिकों को मुफ्त स्वास्थ्य देखभाल, दवाएं और परीक्षण सुविधाएं प्रदान करेगी।

इस योजना से राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर सदस्यों के जीवन स्तर में सुधार होगा और उन्हें अपने स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए मुफ्त चिकित्सा उपचार मिलेगा। इस योजना के तहत पूरी प्रक्रिया को कम्प्यूटरीकृत किया गया है। और इस कम्प्यूटरीकृत प्रक्रिया में कोई गलती न हो इसके लिए विशेषज्ञ चिकित्सक से जांच कराई जाएगी। इस योजना के तहत करीब 20 हजार 928 शिविर लगाए गए हैं। और इस शिविर के माध्यम से लगभग 14 लाख 64 हजार 195 रोगियों को सुविधा प्रदान की गई है।

मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना का लाभ

हम आपको इस योजना के माध्यम से लाभार्थियों को मिलने वाले लाभों के बारे में कुछ जानकारी देंगे –

  • छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना की शुरुआत की है।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य के झुग्गी बस्तियों में रहने वाले सभी नागरिकों को मुफ्त चिकित्सा उपचार और जांच की सुविधा दी जाएगी।
  • CG Mukhyamantri Slum Swasthya Yojana के तहत मोबाइल मेडिकल यूनिट की स्थापना की गई है। और इन मोबाइल चिकित्सा इकाइयों के माध्यम से राज्य के लाभार्थियों को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जाएंगी।
  • यह योजना लाभार्थियों को चिकित्सा उपचार के साथ-साथ बीमारी के लिए दवाएं और परीक्षण प्रदान करेगी। इस योजना के तहत करीब 42 तरह के टेस्ट किए जाएंगे।
  • यह योजना 21 फरवरी 2022 तक छत्तीसगढ़ के सभी शहरों में लागू की जाएगी।
  • इस योजना को शुरू करने के लिए लाभार्थियों को अस्पताल जाने की जरूरत नहीं होगी। इस मोबाइल चिकित्सा इकाई के माध्यम से कोरोनावायरस की उपस्थिति में कई लाभार्थियों का इलाज किया गया है।
  • इस योजना के तहत करीब 20 हजार 968 शिविर लगाए गए हैं। और इन शिविरों के माध्यम से 14 लाख 64 हजार 195 मरीजों का इलाज किया जा चुका है।
  • मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना छत्तीसगढ़ के 14 नगर निगमों द्वारा 1 नवंबर, 2020 से लागू की जा रही है।
  • राज्य के सभी मरीजों को मोबाइल मेडिकल यूनिट में कम्प्यूटरीकृत किया जाएगा।
  • इस कम्प्यूटरीकृत प्रक्रिया का एक विशेषज्ञ चिकित्सक द्वारा ऑडिट किया जाएगा ताकि कोई गलती न हो।
  • यह योजना पूरी तरह से रोगी पंजीकरण, नुस्खे और दवा वितरण को कम्प्यूटरीकृत करेगी।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के नागरिक लाभ उठा सकेंगे। नागरिकों को इस योजना के लिए आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है।
  • इस योजना की शुरुआत से राज्य के नागरिकों के जीवन स्तर में सुधार हुआ है।

छत्तीसगढ़ स्लम स्वास्थ्य योजना पात्रता मानदंड

हम आपको इस योजना के माध्यम से जारी सभी पात्रता मानदंडों के बारे में कुछ जानकारी देंगे –

  • आवेदक छत्तीसगढ़ का स्थायी निवासी होना चाहिए।

Chhattisgarh Mukhyamantri Slum Swasthya Yojana Required Documents

इस योजना के तहत अधिकारियों द्वारा जारी किए गए आवश्यक दस्तावेज हैं –

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • वैध मोबाइल नंबर
  • वैध ईमेल आईडी
  • पासपोर्ट साइज फोटो

नोट: इस योजना का लाभ उठाने के लिए इन सभी दस्तावेजों की आवश्यकता है।

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री स्वास्थ्य योजना आवेदन प्रक्रिया

राज्य में लाभार्थी जो स्लम स्वास्थ्य योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, वे नीचे दी गई प्रक्रिया के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं –

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने राज्य के नागरिकों के स्वास्थ्य की देखभाल के लिए मुख्यमंत्री स्वास्थ्य योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत कोई आवेदन प्रक्रिया नहीं है, राज्य के सभी नागरिक इस योजना के तहत लाभ प्राप्त कर सकेंगे। इन दोनों के माध्यम से स्थापित सभी चल चिकित्सा इकाइयों के माध्यम से राज्य के लाभार्थियों को चिकित्सा सुविधाएं प्रदान की जाएंगी।

निष्कर्ष

हमने आपको इस पेज के माध्यम से छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना 2022 के बारे में सभी जानकारी प्रदान की है। और हम आशा करते हैं कि आपको इस पृष्ठ के माध्यम से प्रदान की गई जानकारी के माध्यम से अपने सभी प्रश्नों के उत्तर मिल गए होंगे। अगर फिर भी आपका कोई सवाल है तो आप हमारे कमेंट बॉक्स के जरिए पूछ सकते हैं, हम बहुत जल्द आपके सवाल का जवाब देंगे।

इसे भी पढ़ें- जीएसटी सुविधा केंद्र कैसे खोलें: GST Suvidha Kendra Franchise Registration

CG Mukhyamantri Slum Swasthya Yojana FAQ

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना क्या है?

स्लम स्वास्थ्य योजना के माध्यम से राज्य सरकार राज्य के स्लमवासियों को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करेगी। राज्य सरकार ने इस योजना के तहत मोबाइल मेडिकल यूनिट की स्थापना की है। इस मोबाइल मेडिकल यूनिट के माध्यम से सभी स्लम क्षेत्रों में चिकित्सा सुविधाएं प्रदान की जाएंगी।

CG Mukhyamantri Slum Swasthya Yojana की शुरुआत किसने की?

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्लम स्वास्थ्य योजना शुरू की है।

कितने नगर निगमों ने पहले ही स्लम स्वास्थ्य योजनाएं शुरू कर दी हैं?

1 नवंबर 2020 से 14 नगर निगमों में स्लम स्वास्थ्य योजना शुरू की गई है। और उन 14 नगर निगमों में 60 मोबाइल मेडिकल यूनिट स्थापित की गईं।

छत्तीसगढ़ मोबाइल मेडिकल यूनिट के माध्यम से कितने शिविर स्थापित किए गए हैं?

इस मोबाइल मेडिकल यूनिट के माध्यम से 20 हजार 968 शिविरों का आयोजन किया गया है। और इन शिविरों के माध्यम से 14 लाख 68 हजार 195 रोगियों को चिकित्सा सुविधा प्रदान की गई। जिसमें से 12 लाख 19 हजार 523 मरीजों को नि:शुल्क दवा दी जा चुकी है और शेष 2 लाख 75 हजार 388 मरीजों का नि:शुल्क परीक्षण किया जा चुका है।

Rate this post

Leave a Comment

error: Content is protected !!