इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, लाभार्थी सूची व पात्रता

राजस्थान सरकार राज्य के लोगों को रोजगार देने के लिए अथक प्रयास कर रही है। सरकार ने राज्य में बेरोजगारी को कम करने के लिए कई योजनाएं लागू की हैं। इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार राज्य के नागरिकों को स्वरोजगार के अवसर प्रदान करने से लेकर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करती है। राजस्थान सरकार ने राज्य के नागरिकों को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना 2022 शुरू की है। इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार मनरेगा जैसे शहरी क्षेत्रों में 100 दिन का रोजगार प्रदान करेगी। इस योजना के सफल क्रियान्वयन पर राज्य सरकार करीब 800 करोड़ रुपये खर्च करेगी।

Indira Gandhi Sheri Rojgar Guarantee Yojana

राज्य में बेरोजगारी को कम करने के लिए विशेष रूप से Indira Gandhi Sheri Rojgar Guarantee Yojana शुरू की गई है। इस योजना के माध्यम से बेरोजगार नागरिकों को रोजगार प्रदान किया जाएगा ताकि वे आत्मनिर्भर बन सकें। आज हम आपको इस पेज के माध्यम से इंदिरा गांधी शहर में रोजगार गारंटी योजना के बारे में लगभग सारी जानकारी देने जा रहे हैं। जैसे कि इस योजना का उद्देश्य, सुविधाएं, आवश्यक दस्तावेज, और इंदिरा गांधी शहर में रोजगार योजना के लिए आवेदन योजना आदि। इस योजना के बारे में अधिक जानने के लिए पूरी पोस्ट पढ़ें।

लेखइंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना
लाभार्थिइस योजना का लाभ राज्य के नागरिकों को मिलेगा।
उद्देश्यइस योजना का उद्देश्य राज्य के शहरी क्षेत्रों में रहने वाले नागरिकों को गारंटीकृत रोजगार प्रदान करना है।

Indira Gandhi Sheri Rojgar Guarantee Scheme About

राजस्थान सरकार ने राज्य के नागरिकों को रोजगार प्रदान करने के लिए इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना शुरू की है। इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार अगले साल से शहरी क्षेत्रों में मनरेगा जैसी नौकरियों की मांग के लिए 100 दिनों का रोजगार प्रदान करेगी। यह योजना राजस्थान के नागरिकों को रोजगार प्रदान करेगी और राज्य में बेरोजगारी दर को कम करेगी। राजस्थान सरकार ने कहा है कि वह इंद्रागांधी शहर में रोजगार गारंटी योजना के सफल कार्यान्वयन के लिए 800 करोड़ रुपये खर्च करेगी। यह योजना पहले केवल ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले नागरिकों के लिए उपलब्ध थी लेकिन अब यह योजना राज्य सरकार द्वारा शहरी क्षेत्रों के निवासियों के लिए उपलब्ध करा दी गई है।

Indira Gandhi Sheri Rojgar Guarantee Yojana 2022 के माध्यम से राज्य में नागरिकों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार होगा। बजट की घोषणा के समय, राजस्थान सरकार ने ग्रामीण के 100 दिन के रोजगार को 125 दिन तक बढ़ा दिया था, और इन 25 दिनों की नौकरियों की लागत राज्य सरकार द्वारा वहन की जाएगी। इसके लिए राज्य सरकार ने 700 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है।

इसे भी पढ़ें- (Apply) राजस्थान अम्बेडकर DBT Voucher योजना

Indira Gandhi Sheri Rojgar Yojana Highlights key

योजना का नामइंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना
किस ने लांच कीराजस्थान सरकार
योजना के तहतराज्य सरकार
राज्यराजस्थान
पोस्ट श्रेणीयोजना
लाभार्थिइस योजना का लाभ राज्य के नागरिकों को मिलेगा।
उद्देश्यइस योजना का उद्देश्य राज्य के शहरी क्षेत्रों में रहने वाले नागरिकों को गारंटीकृत रोजगार प्रदान करना है।
योजना बजट800 करोड़ रुपये
साल2022
आवेदन प्रक्रियाOnline/offline
आधिकारिक वेबसाइटजल्द ही लॉन्च किया जाएगा

इन्द्रगांधी नगर रोजगार गारंटी योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में मनरेगा का विस्तार किया जाएगा

राजस्थान सरकार ने बजट की घोषणा करते हुए इस योजना के तहत मनरेगा के रोजगार को 100 दिन से बढ़ाकर 125 दिन करने की घोषणा की। राजस्थान सरकार ने कहा है कि 25 दिनों के रोजगार का पूरा खर्च राज्य सरकार वहन करेगी। और इस योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए राज्य सरकार ने लगभग 700 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है। इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना राज्य के नागरिकों को रोजगार प्रदान करेगी और राज्य में बेरोजगारी दर को कम करेगी। यह योजना भारतीय श्रम कानून और सामाजिक सुरक्षा प्रणाली का एक रूप है। मनरेगा 1991 में प्रस्तावित किया गया था और 2006 में संसद में पारित किया गया था। यह योजना हर जिले में लागू की गई है। और ज्ञात हो कि यह योजना विश्व की सबसे बड़ी महत्वाकांक्षी सामाजिक सुरक्षा एवं लोक निर्माण कार्यक्रम है।

Indira Gandhi Sheri Rojgar Guarantee Yojana Registration

2014 में, विश्व बैंक ने ग्रामीण विकास रिपोर्ट के उदाहरण के रूप में इस योजना का हवाला दिया। इस योजना के माध्यम से राज्य के बेरोजगार युवाओं को रोजगार मिलेगा और वे आत्मनिर्भर होंगे। Indira Gandhi Sheri Rojgar Guarantee Yojana का उद्देश्य शहरी क्षेत्रों के नागरिकों को गारंटीकृत रोजगार प्रदान करना है। इस योजना से राज्य के नागरिकों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार होगा। इस योजना से राज्य की आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा।

इसे भी पढ़ें- राजस्थान तारबंदी योजना 2022: आवेदन फॉर्म, Tarbandi Yojana Registration

Indira Gandhi Sheri Rojgar Guarantee Yojana का उद्देश्य

राज्य सरकार ने जिस उद्देश्य के लिए यह योजना शुरू की है उसके बारे में हम आपको कुछ जानकारी देंगे –

इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना राजस्थान सरकार के माध्यम से क्रियान्वित की जा रही है। इस योजना का उद्देश्य राज्य के शहरी क्षेत्रों के निवासियों को गारंटीकृत रोजगार प्रदान करना है ताकि वे आत्मनिर्भर बन सकें। इस योजना के माध्यम से नागरिकों को रोजगार मिलेगा और उन्हें अब दूसरों पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। साथ ही इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना देश में रोजगार सुनिश्चित करने में कारगर साबित होगी। इस योजना के माध्यम से राज्य की बेरोजगारी दर कम होगी और राज्य समृद्धि की ओर बढ़ेगा।

Indira Gandhi Sheri Rojgar Guarantee Yojana Budget

राज्य सरकार ने कहा है कि वह योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए 800 करोड़ रुपये खर्च करेगी। यह योजना शुरू में ग्रामीणों के लिए शुरू की गई थी लेकिन अब राज्य सरकार ने इसे शहरी निवासियों के लिए उपलब्ध करा दिया है। यह योजना हर जिले में लागू की गई है। इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना को दुनिया में सबसे बड़े और सबसे महत्वाकांक्षी सामाजिक सुरक्षा और लोक निर्माण कार्यक्रम के रूप में जाना जाता है।

इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना के लाभ

राज्य सरकार इस योजना के तहत लाभार्थियों को जो लाभ प्रदान करेगी वे हैं –

  • राजस्थान सरकार ने राज्य के नागरिकों को रोजगार प्रदान करने के लिए इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना शुरू की है।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार अगले साल से शहरी क्षेत्रों में मनरेगा जैसी नौकरियों की मांग के लिए 100 दिनों का रोजगार प्रदान करेगी।
  • राज्य सरकार ने योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए 800 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है।
  • बजट घोषणा के दौरान राजस्थान सरकार ने मनरेगा के 100 दिन के रोजगार को बढ़ाकर 125 दिन करने का ऐलान किया। और इन अतिरिक्त 25 दिनों के रोजगार का खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। और इसके लिए राज्य सरकार ने 700 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है।
  • यह योजना पहले केवल ग्रामीण क्षेत्रों के निवासियों के लिए उपलब्ध थी लेकिन अब राज्य सरकार ने इसे शहरी क्षेत्रों के निवासियों के लिए उपलब्ध करा दिया है।
  • Indira Gandhi Sheri Rojgar Guarantee Yojana के माध्यम से राज्य के नागरिकों को रोजगार मिलेगा और वे आत्मनिर्भर होंगे।
  • इस योजना से राजस्थान में बेरोजगारी दर में कमी आएगी।
  • इस योजना के सफल क्रियान्वयन से नागरिकों के जीवन स्तर में सुधार होगा।
  • इस योजना के तहत एक वित्तीय वर्ष में कम से कम 100 दिनों का रोजगार प्रदान किया जाता है।
  • इंदिरा गांधी शहरी रोजगार योजना हर जिले में लागू की गई है।
  • मनरेगा 1991 में प्रस्तावित किया गया था और 2006 में संसद में पारित किया गया था।
  • इसे दुनिया में सबसे बड़े और सबसे महत्वाकांक्षी सामाजिक सुरक्षा और लोक निर्माण कार्यक्रम के रूप में जाना जाता है।
  • विश्व बैंक ने अपनी 2014 की रिपोर्ट में भी इस कार्यक्रम को ग्रामीण विकास का एक उदाहरण बताया।

इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना पात्रता मानदंड

इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा जारी पात्रता मानदंड हैं –

  • आवेदक को राजस्थान का स्थायी निवासी होना चाहिए।

Indira Gandhi Sheri Rojgar Guarantee Yojana Required Documents

इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा जारी आवश्यक दस्तावेज हैं –

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • वैध मोबाइल नंबर
  • वैध ईमेल आईडी
  • पासपोर्ट आकार का फोटो

इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया

इच्छुक लाभार्थी इस योजना के तहत नीचे दी गई प्रक्रिया के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं –

राजस्थान सरकार ने हाल ही में Indira Gandhi Sheri Rojgar Guarantee Yojana शुरू करने की घोषणा की है। उम्मीद है कि राजस्थान सरकार जल्द ही योजना के लिए आधिकारिक वेबसाइट और आवेदन प्रक्रिया शुरू करेगी। जब भी राज्य सरकार इस योजना के बारे में कोई जानकारी जारी करेगी तो हम आपको हमेशा इस पेज के माध्यम से सूचित करेंगे। तो इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना के नवीनतम अपडेट जानने के लिए नियमित रूप से हमारे पेज पर जाएं।

निष्कर्ष

हमने आपको इस पेज के माध्यम से इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना 2022 से संबंधित लगभग सभी जानकारी प्रदान की है। हमें उम्मीद है कि आपको इस पेज पर दी गई जानकारी में अपने सभी सवालों के जवाब मिल गए होंगे। यदि आपके पास अभी भी इस योजना के बारे में कोई प्रश्न हैं, तो बस नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में पूछें, हम जल्द ही आपको जवाब देंगे।

इसे भी पढ़ें- राजस्थान वृद्धावस्था पेंशन योजना

Rajasthan Indira Gandhi Sheri Rojgar Yojana FAQ

इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना क्या है?

राजस्थान सरकार Indira Gandhi Sheri Rojgar Guarantee Yojana के माध्यम से राज्य के नागरिकों को रोजगार के अवसर प्रदान करेगी। यह योजना मनरेगा जैसी नौकरियों की मांग करते हुए शहरी क्षेत्रों में 100 दिनों का रोजगार प्रदान करेगी। राजस्थान सरकार ने बजट की घोषणा करते हुए कहा कि मनरेगा के 100 दिन के रोजगार को बढ़ाकर 125 दिन किया जाएगा। और इस अतिरिक्त 25 दिनों के रोजगार का खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना के कार्यान्वयन के लिए कितना बजट आवंटित किया गया है?

राज्य सरकार ने इस योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए 800 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है।

Indira Gandhi Sheri Rojgar Guarantee Yojana का लाभ कौन उठा सकता है?

इस योजना का लाभ राजस्थान के स्थायी निवासियों तक पहुँचाया जाएगा।

इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना का उद्देश्य क्या है?

इस योजना का उद्देश्य राज्य के शहरी क्षेत्रों में रहने वाले नागरिकों को गारंटीकृत रोजगार प्रदान करना है।

Rate this post

Leave a Comment

error: Content is protected !!