प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना 2022: लाभ, कार्यान्वयन प्रक्रिया

भारत सरकार देश के बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए तरह-तरह से उनकी मदद कर रही है। आप सभी शायद जानते हैं कि अभी भी बहुत से लोग कुपोषण से पीड़ित हैं। केंद्र सरकार ने बच्चों में कुपोषण मिटाने और बच्चों को पौष्टिक आहार उपलब्ध कराने के लिए विभिन्न योजनाएं लागू की हैं। केंद्र सरकार ने देश के बच्चों को पौष्टिक आहार उपलब्ध कराने के लिए प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना 2022 शुरू की है। भारत सरकार ने इस योजना के माध्यम से देश के सभी सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के प्राथमिक विद्यालय के छात्रों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। अब तक बच्चों को मध्याह्न भोजन के माध्यम से पौष्टिक भोजन दिया जाता था, लेकिन अब इस योजना को यहां शामिल किया जाएगा।

Pradhanmantri Poshan Shakti Nirman Yojana

Pradhanmantri Poshan Shakti Nirman Yojana के माध्यम से प्राथमिक छात्रों को न केवल भोजन बल्कि पौष्टिक भोजन भी उपलब्ध कराया जाएगा। 28 सितंबर 2021 को प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना का शुभारंभ किया गया। आज हम आपको इस योजना से जुड़ी लगभग सभी जानकारी इस पेज के माध्यम से उपलब्ध कराने जा रहे हैं। जैसे कि योजना का उद्देश्य, लाभ, योग्यता, आवश्यक दस्तावेज और पीएम पोषण शक्ति निर्माण योजना पंजीकरण। इस योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए पूरा पेज पढ़ें।

संक्षिप्त योजना विवरण

योजना का नामप्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना
उद्देश्यइस योजना का उद्देश्य सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराना है।
लाभार्थीइस योजना का लाभ देश के सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों तक पहुंचाया जाएगा।

Pradhanmantri Poshan Shakti Nirman Yojana About

भारत सरकार बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए उन्हें पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराने के लिए तरह-तरह के प्रयास कर रही है। केंद्र सरकार ने बच्चों को पौष्टिक आहार उपलब्ध कराने के लिए Pradhanmantri Poshan Shakti Nirman Yojana 2022 शुरू की है। इस घोषणा के माध्यम से सरकार देश के सरकारी स्कूलों और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के प्राथमिक स्कूल के बच्चों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराएगी। मध्याह्न भोजन योजना के तहत शिशु आहार की व्यवस्था की जा रही थी। लेकिन बताया गया है कि भोजन उपलब्ध कराने के लिए अब से इस योजना को शामिल किया जाएगा।

प्राइमरी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को अब सिर्फ खाना ही नहीं बल्कि पौष्टिक खाना भी दिया जाएगा। 28 सितंबर 2021 को केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में पीएम पोषण विद्युत निर्माण योजना शुरू करने की घोषणा की गई। अब से प्राथमिक शिक्षा ग्रहण करने वाले विद्यार्थियों की भोजन सूची में हरी सब्जियां और प्रोटीन प्रचुर मात्रा में होगा। सूत्रों के मुताबिक, यह योजना अगले पांच साल तक 11.2 लाख सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के करीब 11.8 करोड़ बच्चों को पौष्टिक भोजन मुहैया कराएगी। हम आपको भारत में सभी योजनाओं के बारे में जानकारी प्रदान करते हैं इसलिए हमारी वेबसाइट को बुकमार्क कर लें।

इसे भी पढ़ें- बीपीएल सूची नाम देखें : Download New BPL List

PM Poshan Shakti Nirman Scheme Highlights Key

योजना का नामप्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना
योजना के तहतभारत सरकार
देश का नामभारत
लाभार्थीइस योजना का लाभ देश के सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों तक पहुंचाया जाएगा।
उद्देश्यइस योजना का उद्देश्य सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराना है।
साल2022
बजट1.31 लाख करोड़ रुपये
स्कूलों की संख्या11.2 लाख
लाभार्थियों की संख्या11.8 करोड़
पोस्ट श्रेणीयोजना
संचालन2021-22 से 2025-26 तक
आधिकारिक वेबसाइटजल्द ही लॉन्च किया जाएगा

प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना के लिए बजट

28 सितंबर 2021 को केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में पीएम पोषण शक्ति निर्माण योजना शुरू करने का निर्णय लिया गया। इस योजना को चलाने के लिए केंद्र सरकार 1.31 लाख करोड़ रुपये का बजट खर्च करेगी। इस योजना के संचालन के लिए भारत सरकार 54067.73 करोड़ रुपये प्रदान करेगी। और राज्यों का योगदान 31733.17 करोड़ रुपये होगा। केंद्र सरकार ने कहा है कि पौष्टिक खाद्यान्न की खरीद के लिए अतिरिक्त 45,000 करोड़ रुपये मुहैया कराए जाएंगे। सभी पहाड़ी राज्यों के लिए योजना के कुल बजट का 90% केंद्र सरकार और 10% राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। प्रधानमंत्री पोषण निर्माण योजना के तहत केंद्र सरकार देश के करीब 11.2 लाख सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में अगले 5 साल तक 11.8 करोड़ बच्चों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराएगी।

सरकार ने कहा है कि यह योजना 2021-22 से 2025-26 तक लागू की जाएगी। राज्य सरकारों से इस PM Poshan Shakti Nirman Yojana के माध्यम से रसोइयों और खाना पकाने के सहायकों को मानदेय के सीधे हस्तांतरण के माध्यम से लाभ प्रदान करने का अनुरोध किया गया है। सभी स्कूलों को लाभ हस्तांतरण के माध्यम से भी पैसा उपलब्ध कराया जाएगा। सरकार ने कहा है कि इस योजना के माध्यम से हरी सब्जियां और प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ मेनू में होंगे।

इसे भी पढ़ें- इंदिरा गांधी पेंशन योजना: Indira Gandhi National Pension Yojana in Hindi

प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना का उद्देश्य

सरकार ने जिस उद्देश्य के लिए यह योजना शुरू की है उसके बारे में हम आपको कुछ जानकारी देंगे –

केंद्र सरकार ने राज्य के बच्चों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराने के लिए प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना शुरू की है। इस योजना का उद्देश्य देश के सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराना है ताकि उनका स्वास्थ्य अच्छा रहे। सरकार पौष्टिक आहार देकर बच्चों को कुपोषण से बचाएगी। इस परियोजना के तहत केंद्र सरकार अगले पांच वर्षों में लगभग 11.8 करोड़ बच्चों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराएगी। इस योजना के माध्यम से देश के बच्चों को पौष्टिक भोजन मिलेगा और वे स्वस्थ रहेंगे। राज्य सरकार ने कहा है कि हरी सब्जियां और प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ मेन्यू में होंगे।

28 सितंबर 2021 को भारत के केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में, पोषण शक्ति निर्माण योजना शुरू करने का निर्णय लिया गया। केंद्र सरकार ने कहा है कि वह इस योजना के तहत 1.31 लाख करोड़ रुपये खर्च करेगी। इस योजना के तहत केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों खर्च करेगी। लेकिन पहाड़ी राज्यों में लागत का 90% केंद्र सरकार वहन करेगी और राज्य सरकार लागत का 10% वहन करेगी। पीएम पोषण शक्ति निर्माण योजना देश के सभी सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त प्राथमिक विद्यालयों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराएगी।

Pradhanmantri Poshan Shakti Nirman Yojana Registration

प्रधानमंत्री पोषण विद्युत निर्माण योजना के लाभ

इस योजना के माध्यम से देश के लाभार्थियों को जो लाभ प्रदान किए जाएंगे वे हैं –

  • भारतीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के बच्चों को पौष्टिक भोजन प्रदान करने के लिए प्रधान मंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना शुरू की है।
  • प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना शुरू करने का निर्णय 28 सितंबर 2021 को केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक के माध्यम से लिया गया था।
  • इस योजना को 29 सितंबर 2021 को मंजूरी दी गई थी।
  • यह योजना भारत में सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त प्राथमिक विद्यालय के छात्रों को पौष्टिक भोजन प्रदान करेगी।
  • पोषण शक्ति निर्माण योजना अगले 5 वर्षों में लगभग 11.2 लाख सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के 11.8 करोड़ बच्चों को पौष्टिक भोजन प्रदान करेगी।
  • Pradhanmantri Poshan Shakti Nirman Yojana के माध्यम से देश के बच्चों को पौष्टिक आहार मिलेगा, और उनका शरीर स्वस्थ रहेगा।
  • केंद्र सरकार ने कहा है कि वह इस योजना के तहत 1.31 लाख करोड़ रुपये खर्च करेगी।
  • स्थायी ऊर्जा निर्माण योजना के संचालन के लिए केंद्र सरकार 54061.73 करोड़ रुपये खर्च करेगी। और 31733.17 करोड़ राज्य सरकार वहन करेगी।
  • केंद्र सरकार इस योजना के माध्यम से पौष्टिक खाद्यान्न की खरीद के लिए लगभग 45,000 करोड़ रुपये प्रदान करेगी।
  • पहाड़ी राज्यों में इस योजना के संचालन के लिए केंद्र सरकार कुल लागत का 90% वहन करेगी और राज्य सरकार 10% वहन करेगी।
  • प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना का संचालन 2021-22 से 2025-26 तक किया जाएगा।
  • केंद्र सरकार इस योजना के माध्यम से स्कूली बच्चों को न केवल भोजन बल्कि पौष्टिक भोजन भी उपलब्ध कराएगी।
  • PM Poshan Shakti Nirman Yojana देश में बच्चों के जीवन स्तर में सुधार लाने में भी कारगर होगी।

इसे भी पढ़ें- UIDAI e-Learning Portal 2022: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, e-learning.uidai.gov.in लॉगिन

प्रधानमंत्री पोषण विद्युत निर्माण योजना की पात्रता मानदंड

इस योजना के तहत जारी पात्रता मानदंड हैं –

  • यह योजना सुविधा केवल प्राथमिक कक्षा में पढ़ने वाले छात्रों को ही दी जाएगी।
  • ऐसी सुविधाएं सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के माध्यम से प्रदान की जाएंगी।

Pradhanmantri Poshan Shakti Nirman Yojana Required Documents

इस योजना के तहत भारत सरकार द्वारा जारी आवश्यक दस्तावेज हैं –

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • वैध मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

प्रधानमंत्री पोषण विद्युत निर्माण योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया

इच्छुक लाभार्थी नीचे दी गई प्रक्रिया के माध्यम से इस योजना के तहत लाभ के लिए आवेदन करें –

  • आपको प्रधानमंत्री पोषण विद्युत निर्माण योजना के लिए आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है।
  • इस योजना के तहत लाभ आपको सरकारी स्कूलों या सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के माध्यम से प्रदान किया जाएगा।

निष्कर्ष

हमने आपको इस पेज के माध्यम से प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना 2022 के बारे में लगभग सभी जानकारी प्रदान की है। और हम आशा करते हैं कि आपको इस पृष्ठ पर दी गई जानकारी के माध्यम से अपने सभी प्रश्नों के उत्तर मिल गए होंगे। अगर आपके मन में अभी भी कोई सवाल है तो नीचे कमेंट बॉक्स में हमसे पूछें, हम जल्द ही जवाब देंगे।

इसे भी पढ़ें- How to Prepare Algebra for Indian Air Force Group X Exam 2022

PM Poshan Shakti Nirman Yojana FAQ

प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना क्या है?

केंद्र सरकार प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना के माध्यम से सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराएगी। इस योजना के तहत देश के 11.2 लाख सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के 11.8 करोड़ बच्चों को अगले 5 साल तक पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। यह योजना 2021-22 से 2025-26 तक चलेगी।

PM Poshan Shakti Nirman Yojana किसने शुरू की?

भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पोषण शक्ति निर्माण योजना शुरू की गई है।

प्रधान मंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना को कब मंजूरी दी गई थी?

इस योजना को 29 सितंबर 2021 को मंजूरी दी गई थी।

Poshan Shakti Nirman Yojana कब शुरू की गई थी?

28 सितंबर, 2021 को केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में इस योजना को शुरू करने का निर्णय लिया गया है।

प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना का बजट क्या है?

इस निबंध के प्रबंधन के लिए केंद्र सरकार 1.31 लाख करोड़ रुपये खर्च करेगी।

Rate this post

Leave a Comment

error: Content is protected !!